October 16, 2021

Mookhiya

Just another WordPress site

New Mookhiya election date announced.( Click Here )

BSSC के खिलाफ युवाओं ने चलाया हैशटैग अभियान, रिजल्ट की मांग की

इंटर स्तरीय बहाली को जल्द पूरा करने की मांग को लेकर सोशल मीडिया पर शुक्रवार को हैशटैग चलाया गया। BSSC द्वारा 13,120 पदों के लिए प्रथम इंटर स्तरीय बहाली के लिए जून 2014 में आवेदन मांगे गए थे। बाद में इसे रद्द कर फिर से सितंबर 2014 में वैकेंसी निकाली गई थी, लेकिन 7 वर्षों में भी बहाली पूरी नहीं हुई। अब इस बहाली को जल्द पूरा करने की मांग को लेकर ट्विटर पर परीक्षार्थियों ने हैशटैग #clear_bssc_vacancy_13120_posts चलाया। इस बहाली को लेकर कई बार प्रदर्शन भी किया गया, पर अब तक नतीजा सिफर है।

पेपर लीक होने के बाद रद्द हुई थी परीक्षा

राष्ट्रीय छात्र एकता मंच के अध्यक्ष छात्र नेता दिलीप कुमार ने बताया कि बहाली की पीटी परीक्षा पहली बार 29 जनवरी 2017 से शुरू हुई। आगे फरवरी 2017 तक चार चरणों में परीक्षा होनी थी, लेकिन पेपर लीक के बाद छात्र आंदोलन के कारण परीक्षा रद्द कर दी गई। इस पेपर लीक मे संलिप्तता की वजह से BSSC के तात्कालीन अध्यक्ष और सचिव सहित कई लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया था। दोबारा पीटी परीक्षा दिसंबर 2018 में ली गई।

कब-कब ली गई परीक्षा

दिलीप कुमार बताते हैं कि पीटी के रिजल्ट के लिए 17 जनवरी 2020 को BSSC ऑफिस में लगातार छात्र आंदोलन किया गया था। इलके बाद देर शाम को BSSC ने नोटिस जारी किया कि 20 फरवरी से पहले पीटी का रिजल्ट प्रकाशित कर दिया जाएगा। 14 फरवरी 2020 को पीटी का रिजल्ट प्रकाशित हुआ। आंदोलन के बाद 25 दिसंबर 2020 को मुख्य परीक्षा ली गई। जुलाई 2021 में टाइपिंग टेस्ट और जुलाई-अगस्त 2021 को शारीरिक दक्षता जांच परीक्षा आयोजित की गई, लेकिन परीक्षार्थी अब भी फाइनल रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं।

मानसिक यातना से गुजर रहे युवा

राष्ट्रीय छात्र एकता मंच ने BSSC और बिहार सरकार से मांग की है कि हजारों स्टूडेंट्स के भविष्य को ध्यान में रखते हुए इस बहाली को जल्द पूरा किया जाए। 7 वर्ष बीत चुका है