January 24, 2022

Mookhiya

Just another WordPress site

New Mookhiya election date announced.( Click Here )

बिहार: अब सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनेंगे 149 आईटीआई, कैबिनेट से मिली मंजूरी, इतने करोड़ का आएगा खर्च?

राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई)  को उच्च स्तरीय सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के रूप में स्थापित किया जाएगा। दो चरणों में इसे पूरा किया जाएगा, जिसपर कुल 4606 करोड़ 97 लाख खर्च होंगे। पहले चरण में वित्तीय वर्ष 2021-22 में 60 और दूसरे चरण में 2022-23 में 89 कॉलेजों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाया जाएगा।

सभी आईटीआई में आधुनिक तकनीक का प्रशिक्षण विद्यार्थियों को देने के लिए नई मशीनें स्थापित की जाएंगी। इसको लेकर टाटा टेक्नोलॉजी के साथ जल्द करार होगा। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने में जो 4607 करोड़ खर्च होने हैं, उसका 88 प्रतिशत हिस्सा टाटा टेक्नोलॉजी ही देगी।

शेष 12 प्रतिशत राशि 552 करोड़ 84 लाख का वहन राज्य सरकार करेगी। इनमें पहले चरण में 262 करोड़ 68 लाख और दूसरे चरण में 389 करोड़ 66 लाख राज्य सरकार खर्च करेगी, जिसकी प्रशासनिक स्वीकृति कैबिनेट ने दी है।

इको-पर्यटन के विकास के लिए अलग होगा संभाग, 224 पद सृजित

इको-पर्यटन के विकास के लिए एक अलग संभाग बनेगा। इस संभाग में विभिन्न कोटि के 224 पद सृजित होंगे। कैबिनेट ने इन पदों समेत पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग में 291 पदों के सृजन की स्वीकृति दी। राजगीर के नेचर सफारी के स्थाई और बेहतर संचालन के लिए भी 38 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई। साथ ही 35 वाहनों की खरीद की भी मंजूरी मिली। राजगीर जू सफारी के बेहतर संचालन के लभी 29 अतिरिक्त पद सृजित हुए हैं।