October 21, 2021

Mookhiya

Just another WordPress site

New Mookhiya election date announced.( Click Here )

पटना में स्वाइन फ्लू के 4 मामले मिले

दुनिया में कोरोना से भी अधिक तबाही मचाने वाले स्वाइन फ्लू ने पटना में दस्तक दी है। फुलवारी में 58 वर्ष के एक व्यक्ति की शुक्रवार दोपहर इनफ्लूएंजा-A से मौत की सूचना है। वहीं, पारस हॉस्पिटल में दो मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। इस खतरनाक वायरस की चपेट में कई और लोग भी हैं जो एक निजी हॉस्पिटल की ओपीडी में पहुंचे हैं, जिनका इलाज चल रहा है। पारस हॉस्पिटल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. आसिफ ने दो मरीजों में स्वाइन फ्लू के H1N1 वायरस की पुष्टि की है। इससे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। हालांकि प्रशासन और स्वास्थय विभाग ने देर शाम तक मौत की पुष्टि नहीं की है।

पटना में स्वाइन फ्लू के 4 मामले डिटेक्ट

पटना में निजी हॉस्पिटल में स्वाइन फ्लू के 4 मामले डिटेक्ट हुए हैं। इसमें एक समनपुरा का 25 साल का युवक, एक सीतामढ़ी के युवक के साथ एक फुलवारी का युवक संक्रमित पाया गया है। इसके साथ ही भोजपुर आरा की रहने वाली एक महिला भी स्वाइन फ्लू की संक्रमित पाई गई है। लेकिन इस मामले में स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार रात 10 बजे तक कोई जानकारी नहीं दी है। निजी अस्पतालों की मानें तो अब तक जुलाई से स्वाइन फ्लू के 9 मामले आ चुके हैं। जुलाई में एक मामला आया और 5 मामले अगस्त में आए। अब नए 4 मामले आए हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमण की पुष्टि होने के बाद भी कोई जानकारी नहीं दी है। यह भी नहीं बताया कि राज्य में स्वाइन फ्लू को लेकर क्या अलर्ट है।

वायरल के बीच खतरनाक वायरस ने पसारा पांव

पूरा बिहार वायरल की चपेट में था और इस बीच पटना में स्वाइन फ्लू की दस्तक ने लोगों की नींद उड़ा दी है। फुलवारी में मौत की सूचना के बाद मामला गंभीर हो गया है। पारस हॉस्पिटल की पुष्टि के बाद से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा है। सिविल सर्जन डॉ विभा कुमारी का कहना है कि महामारी रोग अधिकारी को अलर्ट कर दिया गया है। मामले की छानबीन की जा रही है। संक्रमण कहां से आया, इसकी पड़ताल की जा रही है। मृतक के बारे में भी जानकारी इकट्‌ठा कराया जा रहा है। सिविल सर्जन का कहना है कि मामला संज्ञान में आते ही जांच पड़ताल शुरु कर दी गई है।

वायरल के बीच स्वाइन फ्लू से बढ़ी मुश्किल

वायरल के बीच स्वाइन फ्लू से दहशत बढ़ गई है। अब बुखार के मामले में लोगों को काफी सावधान होना होगा। डॉक्टरों का कहना है कि स्वाइन फ्लू के संक्रमण को लेकर लोगों को पूरी तरह से अलर्ट होना पड़ेगा। मास्क का प्रयोग और साफ सफाई को लेकर गंभीर होना पड़ेगा। इसमें खांसने, छींकने या छूने से भी स्वाइन फ्लू का वायरस एक से दूसरे व्यक्ति में पहुंच जाता है। इस कारण से स्वाइन फ्लू से प्रभावित लोगों को अलग रखा जाना चाहिए।