January 24, 2022

Mookhiya

Just another WordPress site

New Mookhiya election date announced.( Click Here )

नौ आईपीटी स्टॉप बनकर तैयार, अदालतगंज तालाब में बनेगा नया छठ घाट, पटना को नए साल पर मिलेंगी कई सौगात

नववर्ष में पटना शहर को कई सौगातें मिलने वाली हैं। अदालतगंज तालाब के पश्चिम एक नया घाट बनाया जाएगा। छठ पूजा के लिए अदालतगंज तालाब एक विकल्प के रूप में भी पटनावासियों को मिलेगा। अगले वर्ष छठ पूजा से पहले नया घाट बनकर तैयार हो जाएगा। साथ ही तालाब की बाउंड्री समेत सभी पौधों पर रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था होगी। जिससे अदालतगंज तालाब की सुंदरता और बढ़ जाएगी।

10 आईपीटी स्टॉप बनकर हो जाएगा तैयार

शहरी यातायात को बेहतर बनाने के मकसद से पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा 10 स्थानों पर इंटरमीडिएट पब्लिक ट्रांसपोर्ट (आईपीटी) स्टॉप निर्माण का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। 10 में से नौ स्टॉप बनकर तैयार हो चुके हैं। स्मार्ट सिटी एडीबी क्षेत्र में तैयार सभी आईपीटी स्टॉप का 15 जनवरी के बाद शुभारंभ कर दिया जाएगा।

पटना स्मार्ट सिटी मिशन अंतर्गत बन रहे आईपीटी स्टैंड पर स्टेनलेस स्टील के डस्टबिन, सार्वजनिक बस के आवागमन से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराने के लिए विशेष डिसप्ले बोर्ड, विज्ञापन के लिए एलईडी स्क्रीन आदि होंगे।

किसे कहते हैं आईपीटी स्टैंड

ऑटो, रिक्शा, ई-रिक्शा, वैन, मिनी बस, सिटी बस आदि मध्यवर्ती सार्वजनिक परिवहन (आईपीटी) की श्रेणी में आते हैं। शहर के एक हिस्से को दूसरे हिस्से से जोड़ने वाले अथवा शहर के एक हिस्से को परिवहन के मुख्य साधन जैसे रेलवे, बस, जहाज, हवाई जहाज, मेट्रो आदि से जोड़ने वाले वाहन मध्यवर्ती सार्वजनिक परिवहन (आईपीटी) कहे जाते हैं। इनके लिए स्मार्ट सिटी के वास्तविक क्षेत्र में 10 स्टॉप लगभग बनकर तैयार हो गये हैं।

300 मीटर लंबा लिंक पथ भी बन जाएगा

नववर्ष में वीरचंद पटेल पथ और नेहरू मार्ग को जोड़ने वाली 300 मीटर लंबे लिंक पथ जो विद्युत भवन के पीछे स्थित मजार होते हुए गुजरता है, का निर्माण कर लिया जाएगा। इससे एक वैकल्पिक मार्ग मिलेगा, जिससे आयकर गोलंबर पर ट्रैफिक दबाव में कमी आएगी। प्रस्तावित लिंक रोड साढ़े सात मीटर चौड़ी दो लेन की सड़क के किनारे आरसीसी नाला और फुटपाथ प्रस्तावित है।

42 ई-टॉयलेट का भी होगा निर्माण

स्मार्ट सिटी के एबीडी क्षेत्र में 42 स्टेनलेस स्टील निर्मित प्री-फैब्रिकेटेड मॉड्यूलर ई-टॉयलेट का निर्माण कर लिया जाएगा। अभी तक इसके 11 लोकेशन के लिए स्थल का चयन किया जा चुका है। प्रत्येक ई-टॉयलेट में ऑटोमेटिक फ्लशिंग सेंसर, पंखा सीलिंग लाइट्स, पावर बैकअप आदि की सुविधा मिलेगी।