October 22, 2021

Mookhiya

Just another WordPress site

New Mookhiya election date announced.( Click Here )

तेजस्वी ने Congress के साथ लड़ाई को बताया ‘फ्रेंडली’, उपचुनाव में जीत के लिए पप्पू यादव को रिझाने में लगी कांग्रेस

बिहार विधानसभा उपचुनाव (Bihar assembly byelection) काफी दिलचस्प मोड़ पर पहुंच चुका है. कांग्रेस  (Congress) ने RJD की तर्ज पर दोनों ही सीटों पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी शुरु कर दी है. प्रदेश कांग्रेस की तरफ से दोनों सीट के लिए उम्मीदवारों की सूची आलाकमान को भेज दी गई है, लेकिन इस बीच पूरे मामले में पप्पू यादव (Pappu Yadav) की एंट्री हो चुकी है. कांग्रेस पप्पू यादव को अपने पाले में लाने के लिए रिझाने की कोशिश शुरु कर दी है. इधर तेजस्वी ने कांग्रेस के साथ चुनावी लड़ाई को फ्रेंडली फाइट बताया है. 

कांग्रेस ने उपचुनाव में अपनी जीत को मजबूत करने के लिए पप्पू यादव को अपने साथ लाने का फैसला लिया है. कांग्रेस चाहती है कि पप्पू कांग्रेस की हाथों को मजबूत करें. लेकिन उपचुनाव में पप्पू कांग्रेस का साथ दें. इस दौरान शर्त है कि पप्पू यादव की पार्टी का कांग्रेस में मर्जर हो जाएगा. कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित शर्मा का दावा है कि पप्पू यादव जेल जाने से पहले से कांग्रेस आलाकमान के संपर्क में हैं. मंगलवार की सुबह ही पप्पू यादव की पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष अखलाक अहमद से उनकी बात हुई है. पप्पू यादव अपनी पार्टी का कांग्रेस में मर्जर कराने को तैयार हैं.

अजित शर्मा ने कहा है कि उम्मीदवार की सूची कांग्रेस आलाकमान के पास भेजने के बाद पप्पू यादव कांग्रेस के संपर्क में आए हैं. पप्पू यादव के फैसले को लेकर कांग्रेस मंगलवार शाम तक इंतजार करेगी. पप्पू यादव यादवों के बड़े नेता हैं. अगर कांग्रेस में आते हैं तो पार्टी की ताकत बढ़ेगी. उनकी पत्नी रंजीत रंजन पहले से कांग्रेस में हैं.

RJD के फैसले के सवाल पर अजित शर्मा ने कहा कि RJD ने दो सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला लेकर कांग्रेस के लिए अच्छा कर दिया है. RJD सभी सीटों पर चुनाव की तैयारी करे तो कांग्रेस को भी अच्छा मौका मिलेगा. कांग्रेस के कार्यकर्ता तो पहले से चाहते थे कि पार्टी 243 सीटों पर चुनाव लड़े. उपचुनाव में कांग्रेस हर हाल में चुनाव जीतेगी. 

तेजस्वी  ने दी सफाई

इधर, तेजस्वी यादव ने पूरे मामले पर पहली बार सफाई दी है. तेजस्वी यादव ने कहा है कि RJD के दो सीटों पर चुनाव लड़ने के फैसले की जानकारी कांग्रेस प्रभारी को दे दी गयी थी. कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास से तेजस्वी से बात हुई थी. तेजस्वी ने कहा कि कांग्रेस फ्रेंडली फाइट लड़ना चाहती है तो कोई परेशानी नहीं. बाय इलेक्शन है, चुनाव लड़ सकती है. महागठबंधन में कोई दरार नहीं है.